तरल (Liquid) || आदर्श तरल (Ideal liquid) || Taral And Aadarsh Taral Physics || Liquid And Ideal liquid Physics || Physics Solution AA Ncert Solution

तरल (Liquid) || आदर्श तरल (Ideal liquid) || Taral And Aadarsh Taral Physics || Liquid And Ideal liquid Physics || Physics Solution AA Ncert Solution



  • तरल (Liquid) :- 

                 जिन पदार्थों में बहने का गुण होता है, वे तरल कहलाते हे।


  • आदर्श तरल (Ideal liquid) :- 

                 एसे तरल जिनमें शुन्य सम्पीड्यता एवं शुन्य श्यानता का गुण हो, आदर्श तरल कहलाता है।

आदर्श तरल का प्रवाह:-
               आदर्श तरल का प्रवाह दो प्रकार का होता है :-

1. धारा रेखीय प्रवाह :- जब कोई द्रव इस प्रकार प्रवाहित होता है कि उसका प्रत्येक करण अपने से ठीक आगे वाले कण के मांर्ग का अनुसरण करता है, तो द्रव के प्रवाह को धारा रेखीय प्रवाह कहते है तथा कण के मार्ग को धारा-रेखा कहते है।

        किसी द्रव का प्रवाह धारारेखीय तभी तक रहता है जब तक कि उसका वेग एक निश्चित वेग से कम होता है। इस निश्चित वेग को क्रान्तिक वेग कहते है।

2. विक्षुब्ध प्रवाह:- जब कोई द्रव इस प्रकार गति करता है कि मार्ग के किसी बिन्दु से होकर गुजरने वाले विभिन्न कणों के वेग भिन्न-भिन्न होते है तो, वह विक्षुब्ध प्रवाह कहलाता है।

              धारा रेखी प्रवाह तरल के श्यानता गुणांक से निर्धारित होता है और विक्षुब्ध प्रवाह तरल के घनत्व (ɠ) से निर्धारित होता है।