तार्किक द्वार (Logic Gates) || Tarkik Dvar Physics || Physics Tarkik Dvar || Physics Logic Gates || Physics Logic Dvar || Physics Solution || Ncert Solution

तार्किक द्वार (Logic Gates) || Tarkik Dvar Physics || Physics Tarkik Dvar || Physics Logic Gates || Physics Logic Dvar || Physics Solution || Ncert Solution

-: तार्किक द्वार :-

(Logic Gates)

(Tarkik Dvar)


OR, AND, NOT, NAND, NOR, EX-OR, EX-NOR



1. OR GATE :-
           इसमें दो या दो से अधिक निवेशी व एक निर्गम गेट होता है। जब भी एक या एक से अधिक निवेशी अवस्था 1 होती है तो OR GATE की निर्गम 1 प्राप्त होती है।



OR GATE की संरचना :-



2. NOT GATE :-

          इसमें एक निवेशी व एक निर्गत द्वार होता है। इस गेट को इन्वर्टर गेट भी कहते है। इसमें निर्गत निवेशी के विपरीत प्राप्त होता है।



NOT GATE की संरचना :-

3. AND GATE :-

           इसमें दो या दो से अधिक निवेशी व एक निर्गम गेट होता है। इसकी निर्गत अवस्था में 1 तभी आता है जब दोंनों निवेशी अवस्था 1 हो।


AND GATE की संरचना :-



4. NAND GATE :-

         इससे तात्पर्य NOT + AND है। यदि एक AND के क्रम में एक NOT गेट संयुक्त कर दिया जाए तो इसे NAND GATE कहते है। उसके निर्गत परिणाम AND गेट के परिणाम के प्रतिलोम होते है।


NAND GATE की संरचना :-

5. NOR GATE :-

         इससे तात्पर्य NOT + OR है। यदि एक OR के क्रम में एक NOT गेट संयुक्त कर दिया जाए तो इसे NOR GATE कहते है। उसके निर्गत परिणाम OR गेट के परिणाम के प्रतिलोम होते है।


NOR की संरचना :-



6. EX-NOR GATE :-

        यह एक प्रकार का NOR GATE होता है। यदि दोनों निवेश स्थिती पर 1 हो तो निर्गम अवस्था में भी एक प्राप्त होता है। यदि एक इनपुट टर्मिनल पर 1 व दूसरे पर 0 हो तो 0 आउटपुट प्राप्त होता है।


EX-NOR GATE की संरचना :-




7. EX-OR GATE :-

        दो AND, दो NOT एक OR गेट के संयोजन से EX-OR गेट बनता है। यह एक विशेष प्रकार का OR गेट है। जिसमें दोनों निवेशी टर्मिनल पर इनपुट 1 होने की स्थिती में आउटपुट 0 हो जाता है। जबकि एक निवेशी टर्मिनल पर इनपुट 1 होने पर आउटपुट 1 प्राप्त होता है।


EX-OR GATE की संरचना :-



  All Logic Gates Symbols :-