भारमल (Bharmal) | बिहारीमल (Biharimal) | Rajasthan History | Indian History | Rajasthan Gk | India Gk | Ssc | Ibps | Rpsc | Exam Notes | Banking Guru | Rajasthan Gk Hindi

भारमल (Bharmal) | बिहारीमल (Biharimal) | Rajasthan History | Indian History | Rajasthan Gk | India Gk | Ssc | Ibps | Rpsc | Exam Notes | Banking Guru | Rajasthan Gk Hindi

भारमल (Bharmal) (1547-1573 ई.)

1562 ई. में मानसिंह केवल 12 वर्ष की अवस्था में अकबर का मनसबदार बना।

भारमल राजस्थान के प्रथम राजपूत शासक थे जिन्होने सबसे पहले अकबर (मुगलों) के साथ वैवाहिक संबंध कायम किये।

राजा, अमीर-उल-उमरा अकबर द्वारा भारमल को उपधियां प्रदान की गई।

सुलहकुल की नीति अकबर ने राजपूतों के साथ स्थापित की।

हरखाबाई इतिहास में बेगम मरियम उज्जमानी के नाम से प्रसिद्ध हुई। इनका विवाह 1562 ई. में अकबर के साथ उनकी अजमेर यात्रा के दौरान साॅंभर में हुई। जहाॅंगीर इन्हीं का पुत्र था।

जोधाबाई एक उपाधि का नाम है जो अकबर एवं जहाॅंगीर की पत्नियों में से मुख्य पत्नी को प्रदान की जाती थी।

यह उपाधि के. आसिफ द्वारा निर्देशित मुगल-ए-आजम के बाद में अधिक प्रचलित हुई है।